Khari Khari News, 06 November, 2020

सोनीपत में शराब पीने से 31 लोगों की मौत होने के बाद डीसी-एसपी ने व्यवस्था की कमान संभाल ली थी और आज इस मामले में पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा की बड़ी कार्रवाई करते हुए सिटी थाना के अंतर्गत आने वाली कोर्ट काम्प्लेक्स थाना प्रभारी सुरेंद्र कुमार, मोहाना थाना प्रभारी श्रीभगवान और थाना बीट इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया है।

गौरतलब है कि गांव गुमड़ में नकली शराब के सेवन से 7 लोगों की हालत बिगड़ी जिनमें से 4 की मौत हो चुकी है और तीन जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अवैध शराब आज से नहीं बहुत समय से बेची जा रही है, लेकिन पुलिस ने पकड़ कर छोड़ देती है।

ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस की शह से ही यह शराब बेची जाती है। ग्रामीण बता रहे हैं कि गांव गुमड़ में आधा से ज्यादा निवासियों ने शराब को ही व्यवसाय बना लिया है और उसी के कारण गांव के ऐसे हालात हुए हैं। ग्रामीणों ने सभी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है।

मामले में गन्नौर डीएसपी जोगिंद्र राठी का कहना है कि 5 लोगों की मौत गुमड़ गांव में हुई है, जिनमें से चार के परिजनों ने बताया है कि मौतें शराब की वजह से हुई है 2 का दाह संस्कार कर दिया गया है। वहीं दो कि शवों को पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। वहीं एक एफआईआर दर्ज कर ली है। जल्द ही मामले में खुलासा किया जाएगा।

वहीं डीएसपी ने यह भी कहा है कि अवैध शराब के लिए वह खुद छापेमारी कर रहे हैं कि कहां कहां बेची जा रही थी। पूरे मामले के बाद पुलिस कभी चुनाव का बहाना बना रही है तो कभी यह कह रही है कि हमें पता नहीं कि अवैध शराब कहां बेचे जा रही है,लेकिन सभी जगह पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *