Sunday , March 24 2019
Breaking News
Home / Khari Khari / लोकसभा की 7 सीटों पर नए प्रत्याशी उतारेगी कांग्रेस/ Congress looking for 7 new candidates in loksabha elections

लोकसभा की 7 सीटों पर नए प्रत्याशी उतारेगी कांग्रेस/ Congress looking for 7 new candidates in loksabha elections

Image result for congress symbol pics

लोकसभा की 7 सीटों पर नए प्रत्याशी उतारेगी कांग्रेस
बड़े महारथियों को उतरना पड़ सकता है चुनावी जंग में
बदले समीकरणों में जिताऊ प्रत्याशी तलाश रहा कांग्रेस हाईकमान
कुलदीप श्योराण
नई दिल्ली। 2014 के लोकसभा चुनाव में हरियाणा में सिर्फ एक सीट हासिल करने वाली कांग्रेस 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए जोरदार वापसी की प्लानिंग पर काम कर रही है । कांग्रेस प्रदेश की 10 लोकसभा सीटों में से 7 सीटों पर नए चेहरे उतारने की प्लानिंग पर काम कर रही है । हर सीट पर जीताऊ चेहरों की तलाश की जा रही है । कांग्रेस कम से कम 7 सीटों पर जीत हासिल करने का लक्ष्य लेकर चल रही है । कांग्रेस हाईकमान ने हर सीट पर सबसे मजबूत नेता को चुनाव लड़ाने की रणनीति पर काम शुरू कर दिया है ।
प्रदेश की 10 सीटों पर कांग्रेस के वर्तमान सियासी हालात और संभावित उम्मीदवारों का आकलन इस प्रकार है:-
रोहतक का दीपेंद्र ही निपटाएंगे रगड़ा
 रोहतक संसदीय सीट पर वर्तमान सांसद दीपेंद्र हुड्डा ही चुनाव लड़ेंगे। जाट आरक्षण आंदोलन हिंसा मामले में उनके परिवार का नाम आने के चलते उनके लिए मुश्किलें तो बढी हैं लेकिन अभी भी वे जीत के प्रबल दावेदार हैं।
सिरसा में होगा तंवर का निर्णायक इम्तिहान
सिरसा संसदीय सीट पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर ही पार्टी की कमान संभालेंगे । अशोक तंवर की टीम ने अभी से चुनाव के लिए तैयारी आरंभ कर दी है। अशोक तंवर के समर्थक यह जानते हैं कि मुख्यमंत्री पद की दावेदारी बरकरार रखने के लिए उनके नेता को लोकसभा का चुनाव हर हाल में  जितना जरूरी है।
 भिवानी़ की उलझी है अभी कहानी
भिवानी -महेंद्रगढ़ सीट पर पिछली प्रत्याशी श्रुति चौधरी ही हाथ के निशान पर चुनावी जंग लड़ती हुए नजर आएंगी। लेकिन उनकी जीत की गारंटी उनकी मां किरण चौधरी को लेनी होगी। अगर कांग्रेस हाईकमान को श्रुति की जीत में कोई शंका नजर आई तो किरण चौधरी को भी चुनाव लड़ने का आदेश जारी किया जा सकता है।
हिसार में भजन लाल परिवार करेगा आर पार
हजकां के कांग्रेस में विलय के बाद हिसार संसदीय सीट पर पिछले चुनाव के मुकाबल ताकतवर हो गई है। यहां कांग्रेस की टिकट भजन लाल परिवार को ही मिलने के प्रबल आसार हैं। कुलदीप बिश्नोई अपने बेटे भव्य बिश्नोई को सक्रिय राजनीति चुनावी राजनीति में उतारने का ऐलान कर सकते हैं। मुख्यमंत्री पद की दावेदारी बरकरार रखने के लिए भजन लाल परिवार हर हाल में हिसार संसदीय सीट जीतने के लिए पूरा दम लगाएगा।
सोनीपत के साथ जोड़ना होगा जींद का गणित
सोनीपत संसदीय सीट पर कांग्रेस की टिकट के तीन दावेदार नजर आ रहे हैं। पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा के पूर्व राजनीतिक सलाहकार प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह इनेलो से कांग्रेस में शामिल हुए सुरेंद्र दहिया और कांग्रेश की पूर्व राष्ट्रीय महिला सचिव विना देशवाल कांग्रेस की टिकट के  सबसे मजबूत दावेदार हैं।
-जाट आरक्षण आंदोलन मामले में प्रोफेसर वीरेंद्र का नाम आने के कारण भूपेंद्र हुड्डा  उनको सियासी रूप से आगे करने में अभी तक हिचक रहे हैं।
-सुरेंद्र दहिया को टिकट दिलाने के लिए भूपेंद्र हुड्डा को पूरी कोशिश करनी होगी।
-सोनीपत जिले की बेटी व जींद जिले की बहू होने के कारण जींद जिला परिषद के पूर्व चेयरमैन व महिला कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय सचिव विना देशवाल कांग्रेस की मजबूत प्रत्याशी साबित हो सकती हैं।
करनाल में कांग्रेस है फिलहाल कंगाल
 करनाल संसदीय सीट पर पिछला चुनाव लड़ने वाले अरविंद शर्मा कांग्रेस को छोड़ चुके हैं। कांग्रेस ने करनाल को ब्राह्मण सीट का दर्जा दे रखा है। इस कारण यहां से किसी ब्राह्मण नेता के ही चुनाव लड़ने के ज्यादा आसार हैं। गन्नौर के विधायक कुलदीप शर्मा यहां से अपने बेटे को टिकट दिलाने की जुगत भिड़ा रहे हैं। कुलदीप शर्मा का यहां जनाधार नहीं होने के कारण कांग्रेस को इस सीट पर कोई और विकल्प तलाशना होगा।
कुरुक्षेत्र में रणदीप ही दिला सकते हैं जीत
कुरुक्षेत्र की चुनावी महाभारत में कांग्रेस के टिकट पर पिछला चुनाव लड़ने वाले नवीन जिंदल पिछले 4 साल में बेहद कम सक्रिय रहे हैं । उनकी जगह कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी व कैथल के विधायक रणदीप सुरजेवाला आगामी चुनाव लड़ सकते हैं। रणदीप सुरजेवाला संसदीय क्षेत्र की सभी 9 विधानसभा सीटों पर बड़ी जनसभाएं भी कर चुके हैं। रणदीप सुरजेवाला कांग्रेश के लिए यहां पर विनिंग कैंडिडेट हो सकते हैं।
अंबाला में शैलजा को संभालनी होगी कमान
अंबाला संसदीय सीट पर पिछला चुनाव कांग्रेस के टिकट पर राजकुमार वाल्मीकि ने लड़ा था। पूर्व केंद्रीय मंत्री शैलजा के राज्यसभा में जाने के कारण राजकुमार वाल्मीकि को टिकट मिली थी । वाल्मीकि कांग्रेस को यह सीट नहीं जिता सकते हैं। कांग्रेस यहां पर किसी मजबूत चेहरे की तलाश कर रही है । कांग्रस हाईकमान के आदेश पर कुमारी शैलजा को भी चुनावी जंग में उतरना पड़ सकता है। शैलजा के अलावा अंबाला संसदीय सीट कांग्रेश के लिए दूसरा नेता फिलहाल जीतता हुआ नजर नहीं आ रहा है।
फरीदाबाद में दलाल सबसे मजबूत दावेदार
फरीदाबाद संसदीय सीट पर पिछला चुनाव लड़ने वाले अवतार भड़ाना कांग्रेश को छोड़ चुके हैं । उनकी जगह कांग्रेस के पास सबसे मजबूत विकल्प पलवल के विधायक करण सिंह दलाल नजर आ रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर के खेमे की ओर से यशपाल नागर भी मजबूत दावेदारी ठोक रहे हैं। कांग्रेस फरीदाबाद सीट जीतना चाहती है तो उसे दलाल को ही चुनावी मैदान में उतारना होगा। इसके अलावा अगर अवतार भड़ाना कांग्रेसियों वापसी करते हैं तो वह भी मजबूत प्रत्याशी साबित हो सकते हैं।
गुड़गांव में नहीं तारणहार
गुड़गांव संसदीय सीट कांग्रेस के लिए चिंता का विषय बनी हुई है । राव इंदरजीत के पार्टी छोड़ने के बाद कांग्रेस के पास हेवीवेट प्रत्याशी नजर नहीं आ रहा है । कांग्रेस ने पिछले चुनाव में राव धर्मपाल को टिकट दिया था लेकिन उनकी परफॉर्मेंस बेहद खराब रही थी। आगामी चुनाव में कैप्टन अजय यादव और राव दान सिंह लोकसभा चुनाव लड़ने की हसरत दिखा रहे हैं ।
खरी खरी बात यह है कि लोकसभा चुनाव  प्रदेश की  सत्ता के सेमीफाइनल होंगे। अगर कांग्रेस सत्ता में  वापसी करना चाहती है तो आगामी लोकसभा चुनाव में उसे हर सीट पर सबसे मजबूत प्रत्याशी मैदान में उतारना होगा।
 अगर कांग्रेस हाईकमान हरियाणा में 6 -7 सीटें जीतना चाहता है तो उसे अशोक तंवर , कुलदीप बिश्नोई , दीपेंद्र हुड्डा , किरण चौधरी, रणदीप सुरजेवाला, कुमारी शैलजा और करण सिंह दलाल को चुनाव लड़ने के आदेश जारी करने होंगे । कांग्रेस के पास इनेलो -बसपा गठबंधन व भाजपा से मजबूत चेहरे मौजूद हैं ।
इन मजबूत छत्रपों पर ही दांव लगाकर कांग्रेस लोकसभा चुनाव में इनेलो -बसपा गठबंधन और भाजपा को पछाड़ने में सफल हो सकती है।

About kharikharinews

Check Also

तीन “R” करेंगे भाजपा का बंटाधार / Three ‘R’ going Dangerous 4 BJP

तीन “R” करेंगे भाजपा का बंटाधार   रिज़र्वेशन, राम रहीम और राजकुमार सैनी करेंगे भाजपा के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *